क्षेत्र के बारे में क्षेत्र के बारे में

दक्षिणी अंचल की जानकारी

                    

                     दक्षिणी अंचल के प्रशासनिक और परिचालनिक क्षेत्राधिकार के अधीन तीन सेक्टर अर्थात दक्षिणी सेक्टर के.के. सेक्टर  और पश्चिमी सेक्टर हैं जिनमें दक्षिणी सेक्टर के अधीन तमिलनाडू,  तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और पांडेचेरी शामिल हैं , के.के. सेक्टर के अधीन केरल और कर्नाटक शामिल है और पश्चिमी सेक्टर के अधीन महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा, दीव, दमन व नागर हवेली (संघ शासित प्रदेश) शामिल हैं। श्री शैलेन्द्र कुमार  दिनांक 22 अप्रैल 2016 को अपर महानिदेशक, दक्षिणी अंचल का कार्यभार ग्रहण किया था। दक्षिणी अंचल मुख्यालय ने प्रत्यक्ष रूप से दिनांक 19 अप्रेल 2011 से ग्रुप केन्द्र, केरिपुबल, हैदराबाद में कार्य करना आरम्भ किया।

                     दक्षिणी अंचल में 3 सेक्टर, 7 रेंजे, 9 ग्रुप केन्द्र, 7 कम्पोजिट अस्पताल, 1 स्टेशन अस्पताल, 1 केन्द्रीय हथियार भंडार, 2 हथियार कर्मशालाएं, 2 केन्द्रीय प्रशिक्षण महाविद्यालय, 2 रंगरूट प्रशिक्षण केन्द्र, तरालू में एक स्वान प्रजनन एवं प्रशिक्षण स्कूल, पुणे में एक इम्प्रावाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस स्कूल, बंगलूरू में एक सूचना प्रौद्योगिकी महाविद्यालय, बंगलूरू में एक नेशनल इन्स्टीच्यूट आॅफ जंगल क्राफ्ट, हैदराबाद और नागपुर में 2 प्रशिक्षण नोड्स, 3 राष्ट्रीय डिजास्टर रिस्पोन्स फोर्स बटालियनें, नागपुर/गांधीनगर में 2 महिला बटालियनें, 45 प्रशासनिक यूनिटें, 13 परिचालनिक यूनिटें, 2 अति महत्वपूर्ण व्यखी का सुरखा बटालियन और 3 द्रुत कार्य बल की बटालियनें शामिल हैं।

Go to Navigation