श्री एम वी राव, आईपीएस

श्री एम वी राव, आईपीएस

पुलिस महानिरीक्षक, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल

पुलिस महानिरीक्षक का संदेश

फोटो गैलरी

वीडियो गैलरी

उत्तरी सेक्टर उत्तरी सेक्टर

सेक्टर संबंधित

सेक्टर के प्रषासनिक क्षेत्राधिकार में 02 रेंजें, 03 ग्रुप केंद्र तथा 17 यूनिटें आती हैं, जिनमें एस0डी0जी0 एवं पी0डी0जी0 भी षामिल हैं।

इतिहास

उत्तरी सेक्टर, केरिपुबल, 1 फरवरी 1972 को अस्तित्व में आया।

प्रारंभ में इसके क्षेत्राधिकार में श्रीनगर, दिल्ली एवं अजमेर रेंजें थी।

प्रषासनिक और परिचालन आवष्यकताओं के अनुरूप समय-समय पर इसका पुर्नगठन किया गया।

वर्तमान में सेक्टर के प्रषासनिक क्षेत्राधिकार में 02 रेंजें, 03 ग्रुप केंद्र तथा 17 यूनिटें आती हैं, जिनमें एस0डी0जी0 एवं पी0डी0जी0 भी षामिल हैं।

इस सेक्टर की 17 यूनिटों में से 03 जम्मू सेक्टर, 09 कष्मीर तथा एस0डी0जी0, पी0डी0जी0, 55 बटालियन, 88(महिला) एवं 122 बटालियन दिल्ली में तैनात हैं।

इसके परिचालन क्षेत्राधिकार में दिल्ली के अतिरिक्त हरियाणा के गुड़गांव एंव फरीदाबाद तथा उ0प्र0 के नोयडा एवं गाजियाबाद जिले आते हैं।

एन0सी0आर0 में तैनात कुल 14 यूनिटों एवं 04 कंपनियों में से 09 यूनिटें एवं 04 कंपनियां दूसरे सेक्टर से संबंधित हैं और षेश 05 यूनिटें इस सेक्टर की प्रषासनिक यूनिटें हैं।

Go to Navigation