श्री विजय कुमार, भा०पु०से०

श्री विजय कुमार, भा०पु०से०

पुलिस महानिरीक्षक,कोबरा, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल

पुलिस महानिरीक्षक के संदेश

फोटो गैलरी

वीडियो गैलरी

कोबरा कोबरा सेक्टर

कोबरा क्षेत्र के बारे में :-

दृढ़तापूर्वक कार्रवाई करने के लिए कमाण्डों बटालियनें (कोबरा) एक विशिष्‍ट बल है, जिसे जंगल की लड़ाई हेतु खड़ा किया गया है। ‘’जंगल के यौद्धा’’ के रूप में भी प्रसिद्ध इन कार्मिकों का चयन केरिपुबल कार्मिकों में से किया गया है। इनकी पहचान साहस, जोश और देशभक्ति है। वे ‘’सख्‍त कमाण्डों’’ और ‘’जंगल युद्ध’’ का प्रशिक्षण प्राप्‍त करते हैं। वर्ष 2008-2011 के बीच खड़ी की गयी 10 कोबरा युनिटों को प्रशिक्षित एवं उपकरणों से सुसज्जित किया जा चुका है और इन्हें असम व मेघालय के साथ-साथ छत्तीसगढ़, बिहार, ओडिशा, झारखण्ड, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश के वामपंथी उग्रवाद से प्रभावित/विद्रोहग्रस्त क्षेत्रों में तैनात किया गया है। यह देश में केंद्रीय सशस्त्र पुलिस में सर्वोत्तम पुलिस है जिसे जंगल में जीवित बचे रहने, लड़ाई लड़ने और जीतने के लिए प्रशिक्षित किया गया है। इसमें कोई संदेह नहीं कि कोबरा देश का सर्वोत्तम केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल है।

कोबरा का संक्षिप्त इतिहास

भारत सरकार ने उग्रवादियों एवं विद्रोहियों से निपटने और गुरिल्ला/जंगल युद्ध जैसे ऑपरेशनों में दृढ़तापूर्वक कार्रवाई के लिए (कोबरा) कमाण्डों बटालियनों की स्थापना के लिए भारत सरकार, गृह मंत्रालय द्वारा दिनांक 12/09/2008 के यू.ओ. सं0 16011/5/200-पीएफ-चार के तहत मंजूरी प्रदान की गई थी।

भारत सरकार ने केरिपुबल में सेक्टर मुख्यालय सहित कोबरा की 10 असम्बद्ध बटालियनें खड़ी करने की मंजूरी प्रदान की गई, सेक्‍टर का नेतृत्व महानिरीक्षक द्वारा किया जाएगा। इन बटालियनों को खड़ा किए जाने की समय-सारणी इस प्रकार है :-

> 2008-09 : 02 (दो) बटालियन और सेक्टर मुख्‍यालय, कोबरा
> 2009-10 : 04 (चार) बटालियन
> 2010-11 : 04 (चार) बटालियन

कोबरा सेक्टर ने श्री के. दुर्गा प्रसाद, भा0पु0से0, महानिरीक्षक कोबरा सेक्टर की कमान में महानिदेशालय, केरिपुबल, केंद्रीय कार्यालय परिसर, लोधी रोड़, नई दिल्ली में कार्य करना शुरू किया। बाद में मार्च 2009 में सेक्टर मुख्‍यालय को पुष्प विहार, नई दिल्ली में स्‍थानांतरित कर दिया गया। दिनांक 11/11/2009 से कोबरा सेक्‍टर मुख्यालय पुराना सचिवालय, सिविल लाईन, दिल्‍ली -54 में कार्य कर रहा है।

कोबरा को 4 शोर्य चक्र,1 कीर्ति चक्र , 1 पीपीएमजी,117 पिएमजी,1267 डीजी कोमेंडेसन डिस्क मिल चुके हैं तथा 31 जवान ऑपरेशन के दौरान शहद हो चुके हैं|

Go to Navigation